क्या योग से क्षतिग्रस्त हृदय वाल्व को ठीक किया जा सकता है?

जानिए हार्ट वाल्व क्या है

दिल शरीर के सबसे महत्वपूर्ण अंगों में से एक है। आजकल हानिकारक आहार, प्रदूषण और तनाव के कारण बहुत से लोग कम उम्र में ही दिल की बीमारियों का शिकार हो रहे हैं। दिल की बीमारियाँ खतरनाक होती हैं क्योंकि जब दिल की बीमारी को इसका इलाज समय पर नहीं मिलता है और इससे दिल का दौरा, दिल की विफलता, दिल के ब्लॉक होने का खतरा बढ़ जाता है। ऐसी स्थिति में, आप स्वस्थ आहार और योग का उपयोग करके हृदय रोगों के जोखिम को काफी हद तक कम कर सकते हैं। आज हम आपको कुछ ऐसे योगासनों के बारे में बताएंगे, जिन्हें केवल 5-10 मिनट करने पर ही आपका दिल स्वस्थ रहेगा और आप दिल की बीमारी से बचे रहेंगे।

 

 

हृदय वाल्व को स्वास्थ रखने के लिए करे ये योग

 

1. सूर्य नमस्कार

सूर्य नमस्कार करने से ब्लड सर्कुलेशन अच्छा बना रहता है और इससे दिल की बीमारियों का खतरा काफी हद तक कम हो जाता है। 12 चरणों का यह योगासन सिर्फ दिल ही नहीं बल्कि शरीर के सभी हिस्सों के लिए फायदेमंद है। आप सूर्य नमस्कार किसी भी मुद्रा में कर सकते हैं। नियमित रूप से सिर्फ सूर्य नमस्कार करने से शरीर के सभी अंग स्वस्थ रहेंगे और हृदय रोग का खतरा भी कम होगा।

 

2. भुजंगासन

आपके हृदय के अलावा भुजंगासन रीढ़, बांह और पेट के लिए भी फायदेमंद है। इसे करने के लिए अपने पेट पर इस तरह लेटें और दोनों हाथों को छाती के पास रखें। अब इस स्थिति में शरीर को ऊपर की ओर ले जाएं और गहरी सांस लें। सांस पर ध्यान केंद्रित करते हुए, जितना हो सके ऊपर उठें और फिर धीरे-धीरे सांस छोड़ें और पिछली स्थिति में लौट आएं।

 

3. पश्चिमोत्तासन

यह योग हृदय को स्वस्थ रखता है और कई स्वास्थ्य समस्याओं को दूर करता है और शरीर को लचीला बनाता है। इसे करने के लिए सीधे बैठें और दोनों पैरों को फैलाकर एक सीध में रखें। अब अपने हाथों को ऊपर उठाएं और पंजों को मोड़कर रखें। ध्यान रखें कि सिलवटों को मोड़ें नहीं।

 

4. अंजलि मुद्रा

यह योगासन आपके श्वसन तंत्र के लिए बहुत अच्छा और बहुत आसान है। इसे करने के लिए दोनों हाथों को छाती के बीच में रखें और आंखें बंद करके धीरे-धीरे सांस लें। इस स्थिति में सांस को कुछ देर रोककर रखें और धीरे-धीरे सांस छोड़ें। कुछ मिनट के लिए इस पैटर्न को जारी रखें। अंजलि मुद्रा आपके दिल को स्वस्थ रखेगी और आप पूरे दिन उर्जावान रहेंगे।

 

5. ताड़ासन

दिल को स्वस्थ रखने के साथ-साथ यह योग तनाव, तनाव और अवसाद की समस्या को भी दूर करता है। ऐसा करने के लिए, आप खड़े होकर दोनों पैरों को थोड़ा बाहर की ओर फैलाएं। इसके बाद दोनों हाथों को ऊपर ले जाएं और हाथों को नमस्कार मुद्रा में जोड़ें और अपने शरीर को एक गहरी सांस के साथ खींचें। अब धीरे-धीरे सांस छोड़ें। अब वापस सामान्य अवस्था में आ जाएं।

 

6. त्रिकोणासन

इस योगासन को करने के लिए दोनों पैरों को फैलाएं और दाहिने पैर को बाहर की ओर फैलाएं। उसके बाद, बाएं हाथ को ऊपर की दिशा में घुमाते हुए, कमर को दाईं ओर भी झुकाएं। उसी स्थिति में, अपनी दाहिनी हथेली को जमीन से रखें और साथ ही बाएं हाथ को ऊपर की ओर फैलाएं। इसे बारी-बारी से दोनों तरफ से करें। इस योग को नियमित रूप से करने से आपका दिल स्वस्थ रहेगा।

 

7. सेतु बंधासन

हृदय को स्वस्थ रखने के लिए आप इस योग को भी कर सकते हैं। ऐसा करने के लिए, अपनी पीठ पर झूठ बोलें, अपनी लंबाई पर दोनों हाथों को फैलाएं। अब धीरे-धीरे अपने घुटनों को मोड़ते हुए अपनी कमर को उठाएं। कुछ देर इस स्थिति में रहने के बाद फिर सामान्य स्थिति में लौट आएं। इस पैटर्न को बार-बार दोहराएं। हृदय के साथ-साथ यह योग कमर, पेट और जांघ को भी आकार में रखता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *